Breaking News देश

जेट एयरवेज ने दिल्‍ली के लिए भरी आखिरी उड़ान, अब आगे क्‍या होगा

आर्थिक संकट से जूझ रही प्राइवेट सेक्‍टर की एयरलाइन जेट एयरवेज ने आखिरकार बुधवार को अपने विमान सेवा परिचालन को अस्थाई तौर पर रोकने की घोषणा कर दी.करीब 8 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी प्राइवेट सेक्‍टर की एयरलाइन जेट एयरवेज की विमान सेवा अस्थाई तौर पर बंद हो गई है. इस एयरलाइन के बंद होने से करीब 20 हजार से अधिक कर्मचारियों का भविष्य अधर में लटक गया है. इसके साथ ही यात्रियों, एयरलाइन के आपूर्तिकर्ताओं का करोड़ों रुपया फंस गया है. जेट एयरवेज की आखिरी उड़ान बुधवार मध्यरात्रि को अमृतसर से नई दिल्ली के लिये भरी गईदरअसल,  बैंकों के समूह द्वारा 400 करोड़ रुपये की त्वरित कर्ज मदद देने से इनकार कर दिए जाने के बाद जेट एयरवेज ने यह फैसला लिया है. जेट एयरवेज की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘‘कर्जदाताओं और अन्य किसी भी स्रोत से आपातकालीन कोष उपलब्ध नहीं होने से ईंधन और दूसरी अहम सेवाओं का भुगतान नहीं कर पाने की वजह से एयरलाइन अपने परिचालन को जारी रखने में सक्षम नहीं हो पाएगी. इस वजह से हम अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानों को तुरंत प्रभाव से रद्द करने के लिये मजबूर हैं