मुरैना
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने 16 सितम्बर को होने वाले मुख्यमंत्री अन्नापूर्णा योजना अन्न उत्सव और 17 सितम्बर से प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्मदिवस पर एक सप्ताह के जनकल्याण कार्यक्रमों के आयोजन की तैयारियों की समीक्षा की।

 कार्यक्रमों के जिला स्तर पर आयोजन के स्वरूप के संबंध में विस्तृत निर्देश भी दिए गए। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कलेक्टर्स को जनकल्याण कार्यक्रमों की श्रृंखला को सफल बनाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि 16 सितम्बर को लाइव कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश के 37 लाख नवीन उपभोक्ताओं को पात्रता पर्ची और राशन पैकेट प्रदान करने का कार्य इन लोगों की जिन्दगी बदलने का अभिनव प्रयास है। यह किसी एक विभाग का कार्यक्रम न होकर राज्य सरकार का महत्वपूर्ण अभियान है, जिसे ग्रामीण विकास, राजस्व, कृषि और अन्य सभी विभाग भी सफल बनाने के लिए जुट जाएं। प्रति सदस्य पाँच किलो गेहूँ, चावल के साथ ही प्रति परिवार एक किलो नमक और 1.5 लीटर केरोसीन का वितरण किया जाएगा। लाभार्थियों को नवम्बर 2020 तक पी.एम.जी.के.ए.वाय. में प्रति सदस्य पाँच किलो अतिरिक्त खाद्यान्न और एक किलो दाल प्रति परिवार निःशुल्क प्राप्त होगी।

मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि कोरोना काल में तकनीकी के सार्थक उपयोग से जनकल्याणकारी कार्यक्रमों का लाभ और संदेश अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस श्रृंखला में प्रदेश के स्ट्रीट वेण्डर्स के कल्याण और प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को गृह प्रवेश के कार्यक्रम प्रधानमंत्री श्री मोदी के संबोधन और हितग्राहियों से बातचीत के साथ सफलतापूर्वक सम्पन्न हुए हैं। इस अवसर पर बताया गया कि जिला स्तर पर अन्न उत्सव में 200 हितग्राही सहित कुल 300 लोग शामिल होंगे। जिला स्तर पर कार्यक्रम पूर्वान्ह 11.30 से 12.15 बजे तक रहेगा। जिलों में राशन की दुकान के स्तर पर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा।

17 से 23 सितम्बर को होने वाले जनकल्याण के कार्यक्रम
प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्मदिवस के दिन 17 सितम्बर को प्रदेश के आंगनवाड़ी केन्द्रों में दुग्ध वितरण का कार्य होगा। चिन्हित किए गए कुपोषित बच्चों को इसका लाभ दिलवाया जाएगा। प्रदेश में करीब 4 लाख ऐसे बच्चों की पहचान की गई है। प्रदेश में 18 सितम्बर को 22 लाख 51 हजार किसानों को फसल बीमा की राशि के 4 हजार 688 करोड़ रूपए वितरित किए जाएंगे। इसी तरह 19 सितम्बर को लगभग 30 हजार वनाधिकार पट्टों का वितरण किया जाएगा। प्रदेश के करीब 47 जिलों के पात्र वनवासी हितग्राही इसका लाभ लेंगे। स्व-सहायता समूहों को 20 सितम्बर को लाभान्वित किया जाएगा। इन्हें सशक्तीकरण के लिए करीब 150 करोड़ रूपए की राशि प्रदान की जाएगी। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के स्ट्रीट वेण्डर्स को 10 हजार रूपए की ऋण राशि प्रदान करने के लिए 21 सितम्बर को कार्यक्रम होंगे। इसी तरह 22 सितम्बर को प्रदेश के 16 हजार 184 मेधावी बच्चों के खातों में 25 हजार रूपए के मान से लेपटॉप के लिए राशि का अंतरण किया जाएगा। इस कार्यक्रम से बच्चों के अभिभावक, शिक्षक भी जुड़ेंगे। जनकल्याण कार्यक्रम में 23 सितम्बर को प्रधानमंत्री किसान योजना के हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। इस कार्यक्रम से सहकारी संस्थाएं जुड़कर प्रदेश में करीब 900 स्थानों पर कार्यक्रम का संयोजन करेंगी। कार्यक्रमों में सिंगल यूज प्लास्टिक और पानी की बोतल का उपयोग न करें। इन सभी कार्यक्रमों को पूर्ण गरिमा और उत्साह के साथ आयोजित किये जायेंगे। सभी कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि के रूप में मंत्रीगण उपस्थित रहेंगे।

Source : Agency