इंदौर
पूर्व मुख्यमंत्री और नेताप्रतिपक्ष कमलनाथ रविवार को इंदौर में बाल बाल बच गए। वे जिस लिफ्ट में सवार थे वो  लगभग 12 फीट ऊंचाई से अचानक नीचे गिर गई। कांग्रेस ने इस हादसे पर जिला प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। विधायक सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी, विशाल पटेल भी लिफ्ट में मौजूद थे। कमल नाथ पूर्व मंंत्री रामेश्वर पटेल की तबियत देखने डीएनएस अस्पताल पहुंचे थे। घटना के बाद कलेक्टर मनीष सिंह ने इस पूरी घटना को लेकर एडीएम हिमांशु चंद्र को जांच के निर्देश दिए हैं।  

इंदौर के एलआईजी चौराहा स्थित डीएनएस हॉस्पिटल में कांग्रेस के नेता रामेश्वर पटेल भर्ती हैं। एक अन्य जानकारी के अनुसार कमलनाथ के साथ लिफ्ट में 7 से ज्यादा लोग सवार हो गए थे । लिफ्ट ग्राउंड फ्लोर से नीचे बेसमेंट फिसल गई। डीएनएस अस्पताल प्रबंधन के ध्रुव संघवी के मुताबिक लिफ्ट में मैं भी था, किसी को चोट नहीं आई।

हादसे के बाद अचानक अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। तुरंत बचाव कार्य शुरू किया गया। लिफ्ट के इंजीनियर को भी बुलाया गया। काफी मशक्कत के बाद सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया, लेकिन घबराहट में कमलनाथ की तबीयत खराब हो गई। अस्पताल में ही उनकी जांच की गई।

Source : Agency