सप्ताह का हर एक दिन अलग-अलग देवी देवताओं को समर्पित है और उसी के हिसाब से हर दिन अलग-अलग रंग के कपड़े पहनने की भी सलाह दी जाती है. सोमवार का दिन शिव जी का दिन माना जाता है और इस दिन सफेद रंग के कपड़े पहनने की बात कही जाती है. उसी तरह से गुरुवार के दिन आपने अक्सर लोगों को पीले रंग के कपड़े पहने देखा होगा. यहां तक गुरुवार के दिन लोग भगवान को पीले रंग का फूल चढ़ाते हैं और पीले रंग की वस्तुओं का ही भोग भी लगाते हैं. तो आखिर गुरुवार के दिन पीले रंग का इतना महत्व क्यों है, यहां जानें इसका कारण.

गुरुवार का दिन भगवान विष्णु के साथ ही देवगुरु बृहस्पति का भी दिन माना जाता है. इस दिन श्रीहरि विष्णु जी के साथ ही बृहस्पति देव की भी पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की जाती है. ऐसी मान्यता है कि विष्णु भगवान के साथ बृहस्पति देव को भी पीला रंग बेहद पसंद है. इसलिए भगवान को प्रसन्न करने के लिए लोग इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनते हैं, भगवान को भोग में पीले रंग की मिठाई या फल ही अर्पित करते हैं, पूजा में पीले रंग के फूलों का इस्तेमाल करते हैं. साथ ही गुरुवार के दिन पीले रंग की चीजों का दान करना भी फलदायी माना जाता है.

पीले रंग को क्यों माना जाता है शुभ

  • हिंदू धर्म में पीले रंग को बेहद शुभ माना जाता है
  • शादी विवाह में पीले रंग की हल्दी लगाकर ही विवाह के रस्मों की शुरुआत होती है
  • शास्त्रों में पीले रंग को संपन्नता का प्रतीक बताया गया है
  • साथ ही पीला रंग जीवन में शुभता भी लाता है
  • मन को उत्साहित करके नकारात्मक विचारों को समाप्त करने में भी मदद करता है पीला रंग

गुरुवार को पीला रंग पहनने के फायदे

  • ज्योतिष की मानें तो जब तक गुरु ग्रह की कृपा न हो, विवाह नहीं हो पाता. ऐसे में अगर शादी में रुकावटें आ रही हों या अच्छे जीवनसाथी की तलाश हो तो गुरुवार को पीले रंग के कपड़े पहनना चाहिए, परिस्थितयां अनुकूल हो जाती हैं.
  • भगवान विष्णु स्वंय भी पीले रंग के वस्त्र ही धारण करते हैं. ऐसे में अगर आप भी गुरुवार को जो भगवान विष्णु का दिन है पीले रंग के कपड़े और पीला धातु पहनेंगे तो आपको भगवान विष्णु की विशेष कृपा मिल सकती है.
  • गुरुवार को पीले रंग के कपड़े पहनने से सेहत अच्छी रहती है और आर्थिक स्थिति भी बेहतर होती है.
Source : Agency