उज्जैन
उज्जैन में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक प्राइवेट हॉस्पिटल के कोविड वार्ड में आग लग गई. अफरा-तफरी के बीच मरीजों को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया. इस दौरान हॉस्पिटल में 80 मरीज भर्ती थे, जिनमें से 24 कोरोना पॉजिटिव थे. जानकारी के मुताबिक, 4 कोरोना पॉजिटिव मरीज झुलसे हैं. एक मरीज की हालत गंभीर बताई जा रही है.

जानकारी के मुताबिक, आग फ्रीगंज स्थित पाटीदार हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में लगी. इसके संचालक उमाशंकर पाटीदार हैं. इस 2 मंजिला हॉस्पिटल में पूरे जिले से मरीज आते हैं. बताया जाता है कि सुबह 11.30 बजे जब वॉर्ड ब्वॉय ड्यूटी पर जा रहा था तब उसने कोविड वार्ड में धुआं उठता देखा. इसके बाद वहां हड़कंप मच गया. स्थिति ये हो गई कि खिड़कियां तोड़कर मरीजों को बाहर निकाला गया. फायर ब्रिगेड और पुलिस को भी सूचना दी गई. अस्पताल प्रबंधन का दावा है कि फायर एक्स्टिंग्विशर से आग बुझा ली गई. मौके पर कलेक्टर आशीष सिंह और एसपी सत्येंद्र शुक्ल भी पहुंचे.

इधर हड़कंप के बीच सभी मरीजों को निकालना शुरू किया गया. हालात ऐसे हो गए किसी को कुछ सूझ नहीं रहा था, क्योंकि मरीजों के परिजनों से भी अस्पताल भरा हुआ था. इस दौरान मौके पर 4 फायर ब्रिगेड पहुंच गई और आधे घंटे में आग पर काबू पाया जा सका. 20 एंबुलेंस की मदद से मरीजों को आरडी गार्डी और गुरुनानक अस्पतालों में भेजा गया.

गौरतलब है कि उज्जैन में कोरोना संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा. पिछले 24 घंटों में यहां 96 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं. इसके साथ ही यहां अब कोरोना से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या 6629 हो गई है. कोरोना वायरस को बेकाबू होते देख सरकार ने उज्जैन में भी हर रविवार को लॉकडाउन लगाया है. जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन सड़कों पर दिखाई भी दे रहा है.

Source : Agency