मुरैना
प्रदेश सरकार द्वारा 21 जून को कोविड-19 वैक्सीन लगाने का महाअभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान के तहत मुरैना जिले को 18 हजार 500 व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन लगाने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। इस अभियान की सफलता के लिये मुरैना जिले में 130 टीमें गठित की गई है। इसके लिये अलग-अलग सेशन लगाने के लिये स्थल चयन करने के निर्देश कलेक्टर बी.कार्तिकेयन ने दिये है। यह विशेष अभियान 21,23,24,25,26,28 और 30 जून 2021 तक चलेगा। अभियान का सफल बनाने और प्रदेश सरकार द्वारा प्राप्त लक्ष्य को शतप्रतिशत पूर्ण करने के लिये कलेक्टर बी. कार्तिकेयन ने शुक्रवार को नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में अपने-अपने दायित्वों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिये है।

कलेक्टर ने कहा कि वैक्सीनेशन महाअभियान प्रातः 9 बजे से प्रारंभ किया जायेगा। इसके लिये किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। जिन अधिकारी, कर्मचारियों को जो दायित्व सौंपे जायेंगे, उन दायित्वों पर उन्हें खरा उतरना है। मैं फील्ड में रहूंगा। मुझे किसी भी अधिकारियों, कर्मचारियों की लापरवाही मिली तो उनके खिलाफ दण्डात्मक कार्रवाही की जायेगी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोशन कुमार सिंह, अपर कलेक्टर नरोत्तम भार्गव, नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, संयुक्त कलेक्टर एलके पाण्डेय, समस्त जिलाधिकारी, स्वास्थ्य अधिकारी और गूगल मीट से जुड़े समस्त एसडीएम एवं ब्लाॅक स्तर के अधिकारी शामिल हुये।
    
कलेक्टर बी. कार्तिकेयन ने वैक्सीनेशन महाअभियान की समीक्षा के दौरान बानमौर सीएमओ यादव, पोरसा के सीएमओ अब्दुल गनी और अम्बाह के ब्लाॅक समन्वय एनआरएलएम दिवाकर शर्मा गूगल मीट से नहीं जुड़े होने पर कलेक्टर ने इनसे संपर्क करना चाहा तो बताया गया कि बिना सूचना के अवकाश पर है। इस पर कलेक्टर ने तत्काल तीनों अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस एवं एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये। इसके अलावा पोरसा सीएमओ के खिलाफ एक वेतनवृद्धि रोके जाने के निर्देश भी दिये।  
    
कलेक्टर कार्तिकेयन ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान 21 जून 2021 के लिये समस्त नगरीय निकाय एवं जनपदों के लिये अलग-अलग लक्ष्य दिया गया है। बताया गया है कि नगर पालिका अम्बाह में तीन स्थानों पर 1 हजार, नगर पालिका पोरसा में तीन स्थानों पर 600, नगर परिषद कैलारस में 4 स्थानों पर 500, नगर पालिका सबलगढ़ में 2 स्थानों पर 500, नगर पालिका जौरा में 5 स्थानों पर 700, नगर पंचायत झुण्डपुरा में 3 स्थानों पर 500, नगर पंचायत बानमौर में 3 स्थानों पर 500 और नगर निगम मुरैना में 10 स्थानों पर 5 हजार लोगों को वैक्सीनेशन का कार्य किया जाना है।
    
कलेक्टर ने बताया कि इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र के लिये जनपद पंचायत पोरसा में 15 स्थानों पर 1 हजार 400, जनपद पंचायत अम्बाह में 15 स्थानों पर 1 हजार, जनपद पंचायत जौरा में 15 स्थानों पर 1 हजार 800, जनपद पंचायत पहाडगढ़ में 12 स्थानों पर 1 हजार, जनपद पंचायत कैलारस में 13 स्थानों पर 1 हजार, जनपद पंचायत सबलगढ़ में 15 स्थानों पर 2 हजार, जनपद पंचायत मुरैना में 12 स्थानों पर 1 हजार लोगों को वैक्सीनेशन कराने के लिये पंचायत स्तर पर स्थान तय करने के निर्देश दिये है।  कलेक्टर ने समस्त जिलाधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि वैक्सीन महाअभियान 21 जून को होना है, इसके लिये मतदान दिवस की तर्ज पर इस कार्य को प्राथमिकता दी जानी है। इसके लिये वैक्सीनेशन दल गठित करना, सेशन के लिये स्थल चयन, साफ-सफाई वाला स्थान, वहां एम्बूलेंस का प्रबंध, सेशन से प्रति दो घंटे पर कितने व्यक्तियों द्वारा लगवाई गई वैक्सीन की रिपोर्टिंग जिला स्तर पर भिजवाना, यह रिपोर्टिंग आॅनलाइन या आॅफलाइन भी भेजी जा सकती है। इसके लिये प्रत्येक सेशन पर काॅलम वार रजिस्टर संधारित करना रहेगा। जो टीम आॅनलाइन जानकारी भेज सकती है, वह आॅनलाइन भेजें। जो मोबाइल से आॅनलाइन नहीं कर पाते है, वे जानकारी आॅफलाइन तैयार कर प्रति दो घंटे में जिला चिकित्सालय में निर्धारित टीम पर भेंजे। जिला चिकित्सालय में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एडी शर्मा आॅॅफलाइन को आॅनलाइन फीडिंग करें, जिससे जानकारी भोपाल स्तर पर देखी जा सके। कलेक्टर ने कहा कि वैक्सीनेशन महाअभियान में स्थानीय जनप्रतिनिधिगणों को पूर्व से ही सूचित करें और उनके द्वारा अभियान का शुभारंभ करावें। कलेक्टर ने कहा कि केवल ड्यूटी आदेश जारी करने तक अधिकारी, कर्मचारी सीमित न रहें। इसके लिये जिस व्यक्ति जो जिम्मेदारी दी है, वह घर-घर जाकर लोगों को प्रेरित करें। इसके लिये नगरीय निकाय एवं नगर निगम पेम्पलेट तथा कचरा गाड़ी पर जिंगल बजवायें। वैक्सीनेशन हर व्यक्ति का होना है, कोई भी व्यक्ति छूटना नहीं चाहिये। जिस प्रकार ओडीएफ अभियान के लिये माहौल बनाया था, ठीक उसी प्रकार टीकाकरण के लिये बनायें। इसी भी सूरत में लक्ष्य अपूर्ण न रहें। कलेक्टर ने कहा कि प्रत्येक गांव वार जानकारी निकालें, कितने लोंगो ने वैक्सीनेशन कराया है। कितने अभी वैक्सीनेशन से वंचित है। इसके लिये लोगों को पीले चावल, पेम्पलेट, फ्लेक्स बैनर आदि लगवाये। 21 जून को महाअभियान समारोह पूर्वक प्रारंभ करें। उन्होंने कहा कि जोनल मजिस्ट्रेट सेशन की रिपोर्टिंग प्रति दो घंटे में करें।
    
कलेक्टर ने कहा कि इस कार्य के लिये एएनएम, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सुपरवाइजर, ग्राम पंचायत रोजगार सहायक, सचिव, बीएलओ का दायित्व रहेगा कि घर व्यक्ति के घर पहुंचकर उन लोंगो को वैक्सीनेशन के लिये सेन्टर पर लायें। उन्होंने कहा कि जनपद सीईओ, बीईओ, बीआरसी, बीएमओ, सीडीपीओ, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र की माॅनिटरिंग करें। किसी भी सेशन पर किसी प्रकार की अप्रिय घटना न बनें। एम्बूलेंस 15 मिनट में उपलब्ध रहे। कलेक्टर ने कहा कि जिन स्कूलों में जिस शिक्षक की पोस्टिंग है, उस स्कूल के बच्चों के पालको को शतप्रतिशत वैक्सीन लगे। यह उस शिक्षक को सुनिश्चित करना है, भले ही उस शिक्षक को उस पालक के घर जाकर उन्हें लेकर आना पड़े। इसके लिये पालक शिक्षक संघ की भी बैठक बुला लें। रोटरी क्लब, व्यापारी संघ जैसे संगठनों का भी सहयोग लें।

Source : Agency