रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कुछ लोग भगवान राम के नाम का उपयोग वैसे ही करते हैं, जैसे कालनेमि ने किया था। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग केवल स्वार्थवश राम का नाम लेते हैं। जबकि हम लोगों ने सदा से जन-जन में बसे राम को पूजा है।
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के दो वर्ष पूरे होने पर 17 दिसंबर को रायपुर के निकट चंदखुरी में आयोजित समारोह को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संबोधित किया। भूपेश बघेल ने कहा कि जब राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गोली मारी गई थी, तब भी गांधीजी के मुंह से राम का ही नाम निकला था।
अयोध्या के राजा श्री राम की माता कौशल्या की जन्मस्थली चंदखुरी में राम वनगमन पथ रथयात्रा और बाइक रैली का समापन भी हुआ। यह रैली उत्तर छत्तीसगढ़ के कोरिया तथा दक्षिण छत्तीसगढ़ के सुकमा से 14 दिसंबर को एक साथ शुरू हुई थी। वनवासकाल में भगवान राम ने कोरिया से ही छत्तीसगढ़ में प्रवेश किया था और सुकमा से गुजरते हुए दक्षिण भारत की ओर बढ़ गए थे। छत्तीसगढ़ सरकार ने राम के इस पूरे वन-पथ में पर्यटन विकास के लिए 137 करोड़ रुपए की महत्वाकांक्षी योजना तैयार की है।

Source : www.jannewslive.com