इस्लामिक संगठन और पाकिस्तान को जमकर लताड़ा, कहा- आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का हक नहीं: भारत

नई दिल्ली 
भारत ने यूनाइटेड नेशंस ह्यूमन राइट्स काउंसिल (UNHRC) में ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) को जमकर लताड़ लगाई है। कश्मीर को लेकर भारत ने कहा है कि OIC के पास भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। भारत ने आगे कहा है कि OIC ने लाचार होकर खुद को पाकिस्तान द्वारा बंधक बनाए जाने की इजाजत दी है। जिनेवा में भारत के स्थायी मिशन में के फर्स्ट सेक्रेटर पवन ने भारत की बातों को काउंसिल में रखा है। 

पाकिस्तान और IOC द्वारा लगातार कश्मीर पर बेतुके बयान देने के बाद भारत ने लताड़ लगाई है। भारत ने कहा है कि काउंसिल को यह बात पता है कि पाकिस्तान मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है और भारत के भूभाग कर कब्जा किए हुए है। पाकिस्तान अल्पसंख्यकों की रक्षा करने में नाकाम रहा है। हिंदू, सिख और ईसाई और अहमदिया जैसे समुदाय के साथ पाकिस्तान का रवैया दुनिया से छिपा नहीं है। यहां तक कि पाकिस्तान में गलत हो रहे चीजों पर सवाल उठाने पर पत्रकारों के साथ बुरा सुलूक किया जा रहा है।

UNHRC की 48वीं बैठक में भारत ने कहा है कि दुनिया पाकिस्तान को आतंकियों को खुले तौर पर समर्थन, ट्रेनिंग, पैसों से मदद करने के तौर पर जानती है। पाकिस्तान काउंसिल के मंचों का दुरुपयोग कर भारत के खिलाफ झूठे और दुर्भावनापूर्ण प्रचार करता है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और भारत को पाकिस्तान जैसे असफल देशों से किसी तरह के सबक की जरूरत नहीं है जो दुनिया में आतंकवाद का केंद्र है।
 
काबुल में भारतीय मूल के हिंदू युवक को उठा ले गए, अकाली नेता का दावा
OIC द्वारा कश्मीर मसले पर दिए गए बयान भारत से सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान अपने एजेंडे के लिए OIC का इस्तेमाल करता रहा है। ऐसे में OIC के सदस्य देश यह तय करें कि वह पाकिस्तान को ऐसा करने की इजाजत देते रहेंगे या नहीं।