कश्‍मीर में आतंक का असर: जम्मू से आने वाली ट्रेनें फुल, दिसंबर के पहले हफ्ते तक नहीं हैं सीटें

 पटना 
श्मीरी लोगों को टारगेट कर हत्या किए जाने के बाद वहां रह रहे लोग चिंतित हैं। कुछ लोग घर लौट रहे हैं तो कई असमंजस में हैं कि वहां रहा जाए या नहीं। फिलहाल जम्मूतवी से बिहार के अलग-अलग शहरों तक और यहां के स्टेशनों से होकर गुजरने वाली ट्रेनों में लंबी वेटिंग चल रही है।

जम्मूतवी से पटना आने वाली 02356 जम्मूतवी-पटना अर्चना स्पेशल में सामान्य श्रेणी से लेकर शयनयान व थर्ड एसी में लंबी वेटिंग है। स्लीपर में इस ट्रेन में 24 अक्टूबर को 284, 27 अक्टूबर को 229, 31 अक्टूबर को 238, तीन नवंबर को 238, सात नवंबर को 141 और 10 नवंबर को 177 वेटिंग है। वहीं, इसी ट्रेन के थर्ड एसी में 24 अक्टूबर को 58, 27 अक्टूबर को 52, 31 अक्टूबर को 84, तीन नवंबर को 79, सात नवंबर को 43 और 10 नवंबर को 14 वेटिंग है, जबकि इस ट्रेन में सेकेंड सीटिंग में अक्टूबर से नवंबर के दूसरे हफ्ते तक लंबी वेटिंग है। उधर, जम्मूतवी से बक्सर, आरा, पटना, मोकामा, किउल के रास्ते हावडा जाने वाली 02332 स्पेशल में स्लीपर, थर्ड एसी व सामान्य श्रेणी में लंबी वेटिंग है। इस ट्रेन के स्लीपर में 24 अक्टूबर को 254, 25 अक्टूबर को 270, 28 अक्टूबर को 271, 31 अक्टूबर को 287 और एक नवंबर को 318 वेटिंग है। चार नवंबर को इसमें रीग्रेट स्थिति है।

 
जम्मूतवी से सासाराम, गया के रास्ते हावड़ा जाने वाली ट्रेन में 22 अक्टूबर से 27 अक्टूबर तक किसी भी श्रेणी में टिकट उपलब्ध नहीं है। जम्मूतवी कोलकाता स्पेशल 03152 में स्लीपर श्रेणी में 22 अक्टूबर को 274, 23 अक्टूबर को 183, 24 अक्टूबर को 190, 25 अक्टूबर को 151, 26 अक्टूबर को 148 और 27 अक्टूबर को 140 वेटिंग है। इसी तरह इसमें थर्ड एसी में 22 अक्टूबर को 72, 23 अक्टूबर को 91, 24 अक्टूबर को 54, 25 अक्टूबर को 50, 26 अक्टूबर को 40 और 27 अक्टूबर को 47 वेटिंग है, जबकि इस ट्रेन में 22 अक्टूबर को सेकेंड सीटिंग में रीग्रेट है। बाकी तिथियों में भी वेटिंग है।