लखीमपुर हिंसा: मारे गए BJP कार्यकर्ता के घर गए योगेंद्र यादव तो संयुक्त किसान मोर्चा ने एक महीने के लिए किया सस्पेंड

नई दिल्ली

तीन कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रही संयुक्त किसान मोर्चा ने योगोंद्र यादव को एक महीने के लिए निलंबित कर दिया है। मोर्चे ने यह फैसला योगेंद्र यादव के लखीमपुरखीरी हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता के घर जाने के बाद लिया है। दरअसल, योगेंद्र यादव लखीमपुरखीरी हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता के घर गए थे। 12 अक्टूबर को उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से घर जाने की तस्वीर भी शेयर की है। दोनों तस्वीर में योगेंद्र यादव मृतक के परिवार से बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं। योगेंद्र यादव ने ट्वीट में कहा है 'शहीद किसान श्रद्धांजलि सभा से वापिसी में बीजेपी कार्यकर्ता शुभम मिश्रा के घर गए। परिवार ने हम पर गुस्सा नही किया। बस दुखी मन से सवाल पूछे: क्या हम किसान नहीं? हमारे बेटे का क्या कसूर था? आपके साथी ने एक्शन रिएक्शन वाली बात क्यों कही? उनके सवाल कान में गूंज रहे हैं!'

 

बता दें कि योगेंद्र यादव की ओर से बीजेपी कार्यकर्ता के घर जाना के कदम से पंजाब के कुछ किसान संगठन नाराज चल रहे थे। जिसके बाद अब किसान मोर्चा ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक महीने के लिए निलंबित कर दिया है। किसान आंदोलन में योगेंद्र यादव काफी एक्टिव रहे हैं और कई जगह उन्होंने सभाओं को भी संबोधित किया है।