विवाह आयु संशोधन विधेयक मिल का पत्थर साबित होगा – अमर

बिलासपुर
 पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने फेसबुक लाईव कार्यक्रम में विगत दिनों संसद में पारित विवाह की आयु में संशोधन अधिनियम को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि लड़कियों के लिए 21 वर्ष विवाह की आयु किये जाने से देश में जेंडर इक्विलिटी आयेगी महिला स्वास्थ्य एवं सुपोषण एवं महिला शिक्षा की दृष्टि से यह कानून क्रांतिकारी साबित होगा। उन्होने बताया चुनाव सुधार संशोधन अधिनियम 2021 के कानून बन जाने से आधार कार्ड को वोटर कार्ड से लिंक किया जायेगा जिससे मतदाता सूची में गड़बड़ी और फर्जी वोटर की समस्या से निदान मिल सकेगा। देश के लोकतांत्रिक मूल्यों की स्थापना में उक्त दोनों विधेयक बेहद महत्वपूर्ण साबित होंगे।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के 3 वर्ष पर उत्सव मनाने को अग्रवाल ने संवेदन हीनता का परिचायक बताया। उनका कहना है कि महामारी के दौर में हजारों की भीड़ इक_ी करके उत्सव मनाना राज्य सरकार की दिखावे बाजी है। सरकार की नीतियों से तंग आकर महामारी की तीसरी लहर की आशंका के बीच कड़कती ठंड में 12 दिनों से हजारों सहायक शिक्षक दिन-रात धरने में रायपुर के बुढ़ापारा में टेंट लगा कर बैठे हुए हैं। स्कुलों में अघोषित तालाबंदी चल रही है और सरकार चुनाव के समय किये गये वादे पर अमल ना करते हुए शिक्षक साथियों की वेतन विसंगति की समस्या पर टाल मटोल कर रही है।

उन्होंने कहा कि मनोज पिंगवा कमेटी जिसे विभिन्न विभागों के कर्मियों की क्रमोन्नति, पदोन्नति और वेतन विसंगतियों को दूर करने बनाया गया है वह केवल मामलो को चुनाव तक टालने का ड्रामा है। उन्होंने कहा जो सरकार कर्मियों को दो साल से लंबित मंहगाई भत्ता नहीं दे पा रही है, जिस पर राजस्व का 106 प्रतिशत कर्ज चढ़ गया हो, वह कमेटियों के माध्यम से यू हीं टाल मटोल करते रहेगी। अग्रवाल ने कहा सरकार 30 हजार महिला स्व-सहायता समूहों से रेटी टू ईट का रोजगार छीनकर अपने चहेते ठेकेदारों को टेंडर पर कार्य देना चाहती थी किन्तु सौभाग्य है कि  माननीय उच्च न्यायालय में दर्ज हस्तक्षेप याचिका से मामले में स्थगन आदेश मिल सका। तीन वर्षों में निर्माण कार्य ठप्प रहे, चुनावी वादे कागजों में पूरे हुए, प्रदेश में माफिया राज और अपराध का बोलबाला रहा, तबादला उद्योग में सरकार की सबसे ज्यादा रूचि दिखी, किसान, युवा, मजदूर, बेरोजगार, अधिकारी, कर्मचारी सरकार की वादाखिलाफी से सड़कों पर आंदोलन के लिए मजबूर हो गये हैं,भूपेश सरकार की राज मे उनके ही विधायक पर हमला हो , तो आम जनता पर क्या होता होगा और सरकार के मंत्री बेमिसाल छत्तीसगढ़ का नारा लगा रहे है।