देश

अब फिल्मों और टीवी सीरियल में सिख शादियों के सीन नहीं दिखेंगे, रोक लगाने की तैयारी में अकाल तख्त

नई दिल्ली
अब फिल्मों और टीवी सीरियल में सिख शादियों के सीन नहीं दिखेंगे। एसजीपीसी ने मोहाली में सीरियल की शूटिंग के दौरान हुए विवाद को लेकर रिपोर्ट मांगी है। अकाल तख्त की ओर से अब इस पर रोक का आदेश आ सकता है। मोहाली में एक पंजाबी सीरियल की शूटिंग के दौरान गुरुद्वारे का सेट बनाया गया था और आनंदकारज यानी सिख विवाह दर्शाया गया था। इसे लेकर विवाद छिड़ गया था और मौके पर पहुंचे निहंगों ने शूटिंग रुकवा दी थी। इसके अलावा पुलिस से मांग की थी कि इस मामले में बेअदबी के आरोपों में केस दर्ज किया जाए और ऐक्शन लिया जाए। निहंगों का कहना था कि टीवी सीरियल मेकर्स को सब कुछ मालूम था, फिर भी ऐसा किया गया।

निहंगों का कहना था कि शूटिंग के दौरान गुरुग्रंथ साहिब का स्वरूप भी दिखाया गया। ऐसा करना गलत है और बेअदबी है। इसकी इजाजत किसी को नहीं है और यूं हर जगह गुरु ग्रंथ साहिब का स्वरूप नहीं ले जाया जा सकता। बता दें कि अकाल तख्त ने पहले ही मैरिज होम्स में होने वाली शादियों में गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूपों को ले जाने पर पाबंदी लिखा रखी है। मोहाली की घटना को एसजीपीसी ने गलत करार दिया है। अकाल तख्त जत्थेदार ज्ञानी रघबीर सिंह ने इस मामले में एसजीपीसी से रिपोर्ट मांग ली है, जिसके बाद इसको लेकर अकाल तख्त से आदेश जारी हो सकते हैं। इससे पहले मैरिज पैलेसों में श्री गुरू ग्रंथ साहिब ले जाने पर रोक लगाई जा चुकी है।

जल्द ही पंज सिंह साहिबों की मीटिंग कर लेंगे फैसला: ज्ञानी रघबीर सिंह
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघबीर सिंह ने मोहाली के घडूआं में सीरियल की शूटिंग के दौरान नकली गुरुद्वारा साहिब में नकली आनंद कारज करने की घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि फिल्मी क्षेत्र के लोग अपने व्यापार को मुख्य रखकर सिख परपंराओं से खिलवाड़ कर रहे हैं। अगर वह इन हरकतों से बाज नहीं आए तो श्री अकाल तख्त साहिब को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी पडे़गी। सिख एक्टर या डायरेक्टर या सहायक कर्मी इस घटना में दोषी या सहायक पाए जाएंगे, उनके खिलाफ श्री अकाल तख्त से भी सिख परंपराओं के अनुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सीरियल निर्माताओं पर भी ऐक्शन की है तैयारी
जल्द ही पंज सिंह साहिबों की मीटिंग कर भविष्य के लिए फिल्मों में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की हजूरी दिखाने पर रोक लगाने को लेकर भी सख्त फैसला लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि  जो सिख एक्टर या डायरेक्टर या सहायक कर्मी मोहाली की घटना में दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ श्री अकाल तख्त से भी सिख परंपराओं के अनुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी। शिरोमणि कमेटी के अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने फिल्मों और सीरियलों में सिख परंपराओं को ठेस पहुंचाने वाली हरकतों की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि सिख भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button