उत्तरप्रदेशप्रदेश

बाढ़ से हाहाकार: पीलीभीत का दौरा कर सकते हैं सीएम योगी, तैयारियों में जुटे अफसर

पीलीभीत

पीलीभीत में बारिश के बाद देवहा और शारदा नदियां उफान पर बह रही हैं। शहर से लेकर देहात तक बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है। गांव-घरों में पानी भर गया है। राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ और वायुसेना की मदद ली गई है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर सकते हैं। इसको लेकर अधिकारियों ने तैयारियां शुरू कर दी है।

मुख्यमंत्री के संभावित दौरे को लेकर डीएम संजय कुमार सिंह और एसपी अविनाश पांडे मंगलवार को पूरनपुर के रामलीला मैदान का जायजा लेने पहुंचे। यहां पर हेलीपैड बनाया जाएगा। माना जा रहा है कि रामलीला मैदान में ही मुख्यमंत्री योगी का हेलीकॉप्टर उतरेगा। यहीं से मुख्यमंत्री सड़क मार्ग से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर स्थिति का जायजा लेंगे।  

शहर में बिगड़े हालात
शारदा नदी के बाद सोमवार रात नानक सागर से पानी छोड़ने से खकरा और देवहा नदी भी उफना गई। बाढ़ से शहर के अधिकांश इलाकों के हालत बिगड़ गए। रातभर तेजी से जलस्तर बढ़ा। दहशत के बीच लोगों ने रात जागकर काटी। मंगलवार सुबह बाढ़ से सड़कों से लेकर घरों तक पांच फीट तक पानी घुस गया। जरूरी सामान समेत लोग छतों पर चढ़ गए। पूरनपुर क्षेत्र में शारदा नदी की बाढ़ में फंसे लोगों को वायुसेना ने एयरलिफ्ट कर सुरक्षित निकाला। वहीं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रशासन की ओर से किए गए इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं।

वायुसेना के जवानों ने किया एयरलिफ्ट
पूरनपुर के चंदिया हजारा क्षेत्र में शारदा की बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए वायुसेना के हेलीकॉप्टर पहुंचे। एयरलिफ्ट कर कई लोगों को सुरक्षित निकाला गया। वहीं, कलीनगर क्षेत्र में पानी कम होने से राहत मिली है। बाढ़ की चपेट में आए अधिकांश इलाकों में खाने पीने का संकट आ गया है। शारदा नदी के किनारे बसे गांवों के लोग खाने के लिए तरस रहे हैं। एडीएम वित्त एवं राजस्व ऋतु पूनिया ने बताया कि जिले के करीब 35 गांव बाढ़ की चपेट में आए हैं। जिले भर में मंगलवार को पानी के बीच फंसे करीब दो सौ लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button